Archives

Interview With Sanjana Porwal

आपको पहली बार कब एहसास हुआ कि आप लेखक बनना चाहते हैं ?उत्तर : -मुझे कुछ माह पूर्व पहली बार एहसास हुआ कि मैं एक लेखक बनना चाहती हूं lकिताब लिखने में आपको कितना समय लगता है ?उत्तर किताब लिखने में मुझे कम से कम 7 से 8 माह का समय लगता है lजब आप लिखते हैं तब आपका समय क्या है ?उत्तर: मैं अधिकतर शाम के समय लिखती हूं lआप क्या कहेंगे अपनी दिलचस्पी के बारे में?उत्तर: मुझे लिखने में और साहित्य पढ़ने में दिलचस्पी है lआपको अपनी पुस्तकों के लिए विचार या जानकारी कहां से मिलती है ?उत्तर:...

Continue Reading →

Interview With Virendra Sinha

Deepak : आपको पहली बार कब एहसास हुआ कि आप एक लेखक बनना चाहते हैं?Virendra Sinha :- स्नातकोपरांत ही मुझे लगने लगा था कि मैं भी लिख सकता हूँ, बस कर दी शुरुवात अपनी शेरो शायरी से। Deepak : आपको किताब लिखने में कितना समय लगता है ?Virendra Sinha : यह किताब के पन्नों की संख्या पर निर्भर है कि उसे लिखने में कितना समय लगेगा। हाँ औसत रूप से 175 पृष्ठों की किताब में लगभग 3-4 माह में पूरी कर सकता हूँ। Deepak : जब आप लिख रहे होते हैं तो आपका कार्यसूची कैसा होता है?Virendra Sinha : सुबह...

Continue Reading →

Interview With DR. CHAITANYA

Deepak :- When did you first realize you wanted to be a writer ?DR. CHAITANYA :- I realized to be a writer for the first time in my student life when I was just 15 years old. I wrote a poem on my motherland. It was published in the school megazine.I took part in Essay competition and won a prestigeous literary “Vijaya Award” on the auspicious occassion of 50th Birthday celebration of Rajmata Vijaya Raje Scindia of Gwalior. Deepak :- How long does it take you to write a book ?DR. CHAITANYA :- I take generally atleart one year to...

Continue Reading →

Interview With Shyam Vedwal

Deepak : - When did you first realize you wanted to be a writer?Shyam Vedwal : - I was fond of writing since childhood but due to lack of proper guidelines and the right platform, so much time has passed. Deepak : - How long does it take you to write a book?Shyam Vedwal : - According to me, there are no fixed timelines for writing a book. A good book can be written in at least three months, and there is no maximum time limit. It all depends on the time and thoughts of writing. Deepak : - What...

Continue Reading →

Interview With H.K. Joshi

Deepak :- आपको कब अहसास हुआ की आप एक लेखक बनना चाहते है ?H.K. Joshi - मेरे घर पर मेरे पिताजी जब कोई उपन्यास या कहांनी पड़ते थे , तो मैं भी उनकी पुस्तकों को छुप छुप कर पड़ता था।मैं उस समय कक्षा सात का स्टूडेंट था अतः पिताजी मुझें अपनी कोर्ष की किताबों को ही पढ़ने की कहते थे, किन्तु मैं उनकी पुस्तकों को चुपचाप पढ़ता रहता।इस तरह पढ़ते हुए मुझें तीन साल बाद लगा कि मैं भी कुछ लिख सकता हूँ , उस समय मैं हाई स्कूल की परीक्षा दे चूका था अतः जून की छुट्टियों में मैंने...

Continue Reading →

Interview With Manjuha ‘Radhe’

Deepak :- आपको कब अहसास हुआ की आप एक लेखक बनना चाहते है ?Manjuha 'Radhe' लिखते तो हम हमेशा से रहे और हमारी दी ‘भावना देवेन्‍द्र मैथाली’ काफी समय से इस विषय में मुझसे कहती रही। पर लेखक बन जाना, ये सोचा नहीं था। बस अभी कुछ समय पहले ही अपने शोक को किताब लिखकर पूरा किया। Deepak :- किताब लिखने में आपको कितना समय लगता है ?Manjuha 'Radhe' :- थोड़े मनमौजी किस्‍म के है हम लिखने का मन हो तो किताब कुछ दिन में पूरी कर लेते है। पर निश्चित समय लगे इस तरह की समय सीमा नहीं है...

Continue Reading →

Interview With Ram Kripal

Deepak :- When did you first realize you wanted to be a writer?Ram Kripal :- After M. Sc. (Physics) in 1974. Deepak :- How long does it take you to write a book?Ram Kripal :- About six months. Deepak :- What is your work schedule like when you’re writing?Ram Kripal :- 10 AM to 4 PM, 8PM to 12PM. Deepak :- Where do you get your information or ideas for your books?Ram Kripal :- From standard journals & books and discussion with colleagues and students. Deepak :- When did you write your first book and how old were you?Ram Kripal...

Continue Reading →

Interview With Manjusha Radhe

शिवानी : आपको पहली बार कब एहसास हुआ कि आप एक लेखक बनना चाहते है ? उत्तर  लिखना हमेशा से शोंक रहा है लेकिन एहसास टीचर ने कराया कि अच्छा लिखते है तो लिखते रहो लेकिन मैंने कभी के बारे में नहीं सोचा था, बाकी ये है कि लिखना शौक रहा है हमारा, कब किताब लिखी पता ही नहीं चला ! शिवानी : किताब लिखने में आपको कितना समय लगता है? उत्तर :  थोडा मूही किस्म के है तो जब मन होता है तभी लिख पाते है कुछ, तो कभी महीने भी लग जाते है तो कभी कुछ दिनों में...

Continue Reading →

Interview With Jr. Sanjeev Sharma

Shiwani :- When did you first realize you wanted to be a writer?Jr. sanjeev Sharma :- I Realize firstly that’s I wanted to be as a writer ,’’ when I was struggling In many different city one by one, to taken a simply livelihood , proceedure , work for asset , and then I saw so bad structure of our youths in these Cities , that’s they are indulged in the worstfull environment including gadgets, and spending more time over including students also and they living own life, without having any goal , and apart it, no Anyone is trying...

Continue Reading →

Interview With Dipak Giri

Shiwani :- When did you first realize you wanted to be a writer?Dipak Giri :- During my college days when I found some of my poems which I had contributed to college magazines got published and earned some recognition among people of my acquaintances, I realized that there might be possibility of other self- the self of a writer within me and then I fixed my mind to focus on my creative writing. Shiwani :- How long does it take you to write a book?Dipak Giri :- Presently I have been editing anthologies on scholarly articles which are received from...

Continue Reading →