Agnipath Ke Rahi : (Rashtriy Sajha kavy-Sangrah) BY (Dr. Kishan Tandon Kranti )

240.00

” “”अग्निपथ के राही”” पुस्तक के बारे में
छत्तीसगढ़ कलमकार मंच के संयोजन तथा साहित्य वाचस्पति- डॉ. किशन टण्डन क्रान्ति के सम्पादन में प्रकाशित पाँचवीं साझा काव्य कृति है- ‘अग्निपथ के राही’। यह कृति सम्पूर्ण एटलस का भार उठाए हुए मेहनतकश लोगों के बारे में विशद विवेचन करती है।
भारत के 100 महान व्यक्तित्व में शामिल तथा दुनिया के सर्वाधिक होनहार लेखक के रूप में विश्व रिकॉर्ड में दर्ज भारत भूषण सम्मान प्राप्तकर्ता- डॉ. किशन टण्डन क्रान्ति के अग्निपथ के राही की फेहरिस्त बहुत लम्बी है। इसमें वे सारे लोग शामिल हैं, जो किसी न किसी रूप में अभिशप्त जीवन जीने को विवश हैं। जैसे- किसान, मजदूर, सैनिक, कलमकार, पत्रकार, दस्तकार, सुनार, लोहार, कुम्हार, राजमिस्त्री, बढ़ई, जुलाहा, रंगरेज, इत्यादि के जीवन संघर्ष को काव्यमय प्रस्तुति द्वारा प्रतिष्ठापित किया गया है। यद्यपि ये सभी राष्ट्रीय पटल से अदृश्य रहते हैं, तथापि राष्ट्रीय विकास में इनका महत्वपूर्ण योगदान हैं।
इस संकलन की भाषा-शैली सरल एवं सुबोध है। इसे सामान्य पाठक भी पढ़कर आसानी से समझ सकता है। यह कृति विद्यार्थियों एवं शोधार्थियों के लिए भी अत्यन्त उपयोगी है। साथ ही यह पाठकों को नई प्रेरणा से अनुप्राणित भी करती है।”

  • Publisher ‏ : ‎ Booksclinic Publishing (31 December 2022)
  • Language : Hindi
  • Paperback ‏ : ‎ 164 pages
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 9789355357380
  • Reading age ‏ : ‎ 3 years and up
  • Country of Origin ‏ : ‎ India
  • Generic Name ‏ : ‎ Book

100 in stock (can be backordered)

SKU: book1473BCP Category:

Additional information

Dimensions 5.5 × 8.5 cm

Reviews

There are no reviews yet.

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.