Asambhav ke Virudh

(20 customer reviews)

“असम्भव के विरूद्ध पुस्तक के बारे में
लेखक जो कि 27.03.1974 से 30.06.2017 तक शासकीय सेवा में रहे के द्वारा लिखे गये विभिन्न लेख व रचनायें समय-समय पर ब्रम्हआलोक, युवा छत्तीसगढ, मार्ग़ आदि मासिक पत्रिकाओं तथा दैनिक समाचार पत्रों में प्रकाशित होता रहा है। लेखक द्वारा संकलन एवं महत्वपूर्ण गम्भीर विषयों पर यह प्रथम पुस्तक हैं।
वर्तमान मे भारतवर्ष मे प्रत्येक 20 मिनट में एक बलात्कार का हादसा, छ.ग. में विगत 15 वर्षो में एच.आई.व्ही.पीडितों की संख्या में 76 की वृद्धि, यौन अत्याचार, भ्रूण हत्या, आॅनर किंलिग, में निरंतर वृद्धि हो रही है। लेसेंट पात्रिका में एक सनसनीखेज आॅकड़ा दिया है कि पिछले 3 दशको में 42 लाख से 121 लाख तक कन्या भ्रूण की हत्यायें भारत में ऐसे घरो में हुई जिसके यहाँ दुसरी संतान भी लकड़ी थी। लड़का हो या लकड़ी यह धारणा पिछली मानसिकता का परिचायक है। कल्पना कीजिये, देवभूमि, देवताओ की जन्मस्थलीय भारत की क्या दुर्दशा है।
इन सब आतताइयों को फांसी की सजा भी वर्षो नही हो पाती, संसद में प्रतिदिन बहस संविधान परिवर्तन के साथ यदि ऐसा हो कि भविष्य में संस्कारवान संतान की उत्पत्ति होने पर इन सब अनैतिक अपराधो में कमी संभव है। लेखक द्वारा श्रीमद्भगवदगीता, गरूणपुराण, श्रीमद्भागवत आदि पुराणों का गहन अध्ययन कर एक ऐसी विधि का पुस्तक में उल्लेख किया गया है जिसके पालन करने पर बिना किसी पूजा पाठ या अनुष्ठान के संस्कारवान संतान, की प्राप्ति की साथ ही भू्रण हत्या पर नियंत्रण पूर्णतः संभव है। इस पुस्तक से लोगो को मार्गदर्शन के साथ ही जिज्ञासुगण समुचित लाभ उठा सकेगे।

  • Paperback: 130 Pages
  • Publisher: Booksclinic Publishing
  • Language: Hindi
  • Edition: 1
  • ISBN: 978-93-89757-07-1
  • Release Date: 26 March 2020

140.00

  Ask a Question
SKU: book213 Category:

Book Details

Dimensions 5.5 × 8.5 cm

About The Author

Ram Shankar Shukla

“लेखक परिचय

नाम
रामशंकर शुक्ल
पिता श्री सुन्दर लाल शुक्ल
माता श्रीमती शकुंतला शुक्ला
जन्मतिथि 23, 06 1955
जन्मस्थान ग्राम बरतोरी,बिलासपुर
शिक्षा स्नातक (कॉमर्स )
सी आई आर टी पुणे से
डिप्लोमा इन मैनेजमेंट।
शासकीय सेवा-
i) 1974 से 2002 तक पूर्ववर्ती (राज्य परिवहन निगम )
ii) वर्ष 2003 से 2008 तक सी आई डी सी
iii) लोक सेवा आयोग (2009 से 2011
iv) हस्तशिल्प विकास बोर्ड से से सहायक प्रबंधक पद पर 2017 में सेवानिवृत्त
विशेष * सन 2004 में उत्कृष्ट कार्य सम्पादन हेतु माननीय कलेक्टर महोदय द्वारा प्रशस्ति पत्र *
सामाजिक सम्मान
1 एस ई सी एल बिलासपुर में सहस्त्र अक्षरों के अमोघ सदाशिव कवच का 4 मिनट 8 सेकंड में कंठस्थ वाचन ,लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड हेतु प्रस्तावित *
2 * मुंबई सामाजिक परिवर्तन फाउंडेशन द्वारा 2018 में 1,23,216 लोंगो को चमड़े की वस्तुओं का बहिष्कार का समर्थन हेतु सम्मान पत्र प्रदान किया गया।
3 * मेरे द्वारा सन 2010 से लगातार दोनों नवरात्रि पर्व पर लिंगियाडीह बिलासपुर के कामाख्या मंदिर में प्रज्लवित ज्योति कलश के मध्य अभिजीत मुहूर्त में दुर्गा माँ का स्तवन किया जाता है ।*
* जीवन का उद्देश्य
परहित सरस् धर्म नही भाई ।
परपीड़ा सम नही अधिकाई ।।

20 reviews for Asambhav ke Virudh

  1. Booksclinic Admin

    Nice book … sir

  2. Booksclinic Admin

    ASHAMBHAV KE VIRUDDH
    First book written by Mr Ramashankar Shukla Published by BOOKS CLINIC
    Is in category of Non fiction book achieved the goal of 5 STAR in google play store and 4.9 in amejon Kindle due to usefulness and intresting book .Now print copy of this book is available for sale

  3. Booksclinic Admin

    I read the soft copy written by shri RamShankar Shukla ji
    ASAMBHAV KE VIRUDH
    And going to purchase print copy of this Usefulness Book
    **I wish to say that Tajmahal or China Wall is not the Wonder of world but MOST WONDER IS Abortion of Female child by those who has already female means Kanya Author has written easy way to stop this WITH PROOVED ARTICLES
    A suggestion given by shri bajpai ji former president Advocate bar council {in page no 76 }is also thoughtful
    So instead of writing more suggest to purchase book** Book contains total 21 Chapters all related.to Aadhyatmik on Scientifically way
    Heartily Thanks to Author for his best investigation
    SAKET RAJPURIA
    Raipur (C.G )
    Mobile no. 93001 07111

  4. Booksclinic Admin

    *जो हमारे वश में नहीं है,उसके पीछे कस्तूरी मृग की भांति भागते रहते हैं अतः जो हमारे वश मे है वह नियमित रूप से करते रहें तो जो वश में नही है वह भी होने लगेगा*
    यह *असम्भव के विरूद्ध ,पुस्तक का ही अंश है जो श्री रामशंकर शुक्ल जी द्वारा लिखा जाकर बुक्स क्लीनिक*के माध्यम से प्रकाशित हुआ ।इसके अतिरिक्त सभी चैप्टर्स
    गम्भीरता लिये किन्तु उत्साहवर्धक हैं ।
    लेखक एवम प्रकाशक को अशेष शुभकामनाएं
    निवेदिता सिंह
    Singh.nivi244@gmail.com

  5. Booksclinic Admin

    THE SECRET OF SUCCESS
    AGINST AMBIVALENCE
    **असम्भव के विरूद्ध (सफलता का रहस्य,)👌 Book written by Mr Ramashankar shukla ji in category of Non fiction book
    Dose not introduce only Mantra details but it Motivate us to do some best in our Life to run out from Depression in . Chapter AKRATA ki bhavna ..A new book in field of Motivational
    Subjects in 21 Chapters
    Heartily thanks to Resp Author for his efforts
    VIVEK BAHADUR SINGH
    Engineer Erosion
    Bangluru
    singh.vivekbahadur@gmail.com

  6. Booksclinic Admin

    हमे अपना लक्ष्य तो निर्धारित करना ही पड़ेगा और लक्ष्य शुभ होना चाहिये।शुभ उद्देश्य के लिए इच्छा, भावना,,एवम शक्ति अपने आप आती है। *💐 एक शुभ लक्ष्य कर्मठ भावना के साथ श्री रामशंकर शुक्ल जी की प्रथम पुस्तक ,असम्भव के विरुद्ध ,,विज्ञान और अध्यात्म का संयुक्त उद्धरणों सहित एक श्रेष्ठ पुस्तक कहा जा सकता है💐सुविज्ञ पाठकों को यह पुस्तक लेने के अनुरोध सहित
    लेखक को हार्दिक शुभकामनाएं एवम साधुवाद
    सु,श्री, भावना मिश्रा
    विजया रेसीडेंसी बिलासपुर ,छः ग:
    मो न, 91 97707 48809

  7. Booksclinic Admin

    वर्तमान में जहां चारों ओर नकारात्मक ऊर्जा का वातावरण है हम भी उसी बहाव में बहकर अपने साथ अनन्याय नहीं कर सकते ।
    श्री रामशंकर शुक्ल जी द्वारा उनके लिखे पुस्तक *👍 असम्भव के विरुद्ध👏* में इस बात को बहुत ही सरल शब्दों में व्यवहारिक रूप से विभिन्न उद्धरणों सहित बहुत ही अच्छे ढँग से समझाया गया है विशेषतः मंत्रो का सर्वव्यापी वैज्ञानिक उपयोगिता
    मुझे सबसे अच्छा यह लगा लेखक के जीवन का उद्देश्य
    **परहित सरिस धर्म नही भाई ।
    परपीड़ा सम नही अधिकाई**
    लेखक को उनके प्रेरणादायक पुस्तक की रचना हेतु बधाई एवं हार्दिक शुभकामनाएं ।
    हेमन्त बरमैया
    सहायक प्रबंधक
    छ,ग,हस्तशिल्प विकास बोर्ड
    जिला बिलासपुर छः ग
    मोबाइल न . 91 9174008964

  8. Booksclinic Admin

    *असम्भव के विरूद्ध *
    श्री रामशंकर शुक्ल जी द्वारा लिखे इस पुस्तक की जिसे गूगल प्ले स्टोर पर 5 स्टार की। रेटिंग प्राप्त है कि सॉफ्ट कॉपी पढ़ने के बाद कहा जा सकता है कि
    *जब गेलिलियो जी द्वारा यह कहा। गया कि यह कहा गया कि सूर्य स्थिर है और पृथ्वी सूर्य का चक्कर लगाती है सभी असहमत थे किंतु मैं इस पुस्तक के लेखक के एवम व्याख्याता श्री राजेश तिवारी जी के ईस बात से सहमत हूँ कि कि इस पुस्तक के चैप्टर क्रमांक 14 # विश्व का प्रथम आश्चर्य #👌 के अनुसार बिना पूजा पाठ,अनुष्ठान आदि के मात्र कुछ सामान्य नियमो का पालन करें तो सचरित्र सन्तान की उत्पत्ति सम्भव है
    लेखक के द्वारा श्रीमद्भागवत गीता, गरूण पुराण ,सुखसागर के प्रमाण सहित लेख लिखना उनके अनुसंधान का परिचायक है ।
    *ब्राह्मण अंतर्राष्ट्रीय महासंघ के केंद्रीय अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष आचार्य डॉ कीर्तिभूषण पांडेय जी के द्वारा भी इस पुस्तक को देश व समाज के लिए दिशा निर्देश एवम युवा पीढ़ी के लिये प्रेरणास्रोत का कार्य करेगा ,, ऐसे विचार लिख अनुशंसा की गई है ।*
    आशा है कि सभी सम्प्रदाय के विद्वजन पढ़कर ईस पुस्तक से अमूल्य लाभ उठाएंगे । लेखक को अनन्त साधुवाद एवम हार्दिक शुभकामनाएं
    भूपेन्द्र शुक्ला
    सम्भागीय प्रबंन्धक (से.नि ..)
    सी आई डी सी रायपुर (छ ,ग )
    मोबाइल न .98271 76264

  9. Booksclinic Admin

    *असम्भव के विरुद्ध* श्री रामशंकर शुक्ल जी के द्वारा जो कि गृहस्थी है के द्वारा * नवरात्रि पर्व में जलते हुए ज्योतिकलश के मध्य साधना एवम पुस्तक के आधार पर मात्र यह लिखना ही पर्याप्त है *कि ईश्वर सर्वत्र है, सबको सदा उपलब्ध है इस बात में कोई संदेह नहीं, ईश्वर हमारे बहुत ही निकट है, लेकिन क्या हम उनके निकट हैं?? बिल्कुल भी नहीं, यहीं पर तो बात नहीं बनती। ईश्वर के निकट जाने के लिए कहीं और जाने की जरूरत ही नहीं है, बस वापस स्वयं में आने की जरूरत है।
    अतः अपने आत्म स्वरुप को जानने का प्रयास करते हुए यदि अपने आपको अकर्ता माने तो ही तनावरहित जीवन जी सकता है जो कि वर्तमान की आवश्यकता विशेष है ।*पुस्तक का एक अंश है यह उदगार* लेखक को उनके प्रथम उत्कृष्ट रचना एवम बुक्स क्लीनिक को प्रकाशन हेतु हार्दिक शुभकामनाएं
    असरिता मिंज
    जिला बिलासपुर (छःग)

  10. Booksclinic Admin

    महेश वाधवानी
    आनंद ऑप्टिकल
    तेलीपारा मेन रोड बिलासपुर
    असंभव के विरूद्ध
    यदि आपको जीवन मे विजय चाहिये,सफलता चाहिए,उन्नति चाहिए तो दैनिक क्रियाओं के साथ कुछ अलग करने का प्रयास करना चाहिए।
    लेखक श्री रामशंकर शुक्ल द्वारा 43 वर्षों से शासकीय सेवा के साथ विज्ञान, व्यवहार, एवम आध्यत्म पर
    लिखी इस श्रेष्ठ पुस्तक के लिए लेखक को मंगलमय शुभकामनाएं
    मोबाइल नंबर 98261 69029

  11. Booksclinic Admin

    *गर्म पानी भी आग को बुझाने का ही काम करती है सन्तरे को भी निचोडने पर भी अपना मूल भाव रस ही बाहर निकालता है किंतु मनुष्य द्वाराअपना मूल स्वभाव स्नेह सहयोग अनुशासन को छोड़कर दुष्कर्म में लिप्त होना ही दुःख का एक प्रमुख कारण है *
    यह श्री रामशंकर शुक्ल द्वारा लिखे ।असम्भव के विरुद्ध। पुस्तक का एक अंश है **.
    बुक्स क्लीनिक बिलासपुर द्वारा प्रकाशित
    लेखक के इस अभिनव प्रयास से यह पुस्तक लोकप्रिय हो यही मेरी शुभकामना संदेश है ।
    आशीष अग्रवाल
    व्यापार विहार
    बिलासपुर छत्तीसगढ़
    मो , 91 9644501191

  12. Booksclinic Admin

    *असम्भव के विरुद्ध* श्री रामशंकर शुक्ल जी के द्वारा जो कि गृहस्थी है की नवरात्रि पर्व में जलते हुए ज्योतिकलश के मध्य साधना एवम पुस्तक के आधार पर मात्र यह लिखना ही पर्याप्त है कि ईश्वर सर्वत्र है, सबको सदा उपलब्ध है इस बात में कोई संदेह नहीं, ईश्वर हमारे बहुत ही निकट है, लेकिन क्या हम उनके निकट हैं?? बिल्कुल भी नहीं, यहीं पर तो बात नहीं बनती। ईश्वर के निकट जाने के लिए कहीं और जाने की जरूरत ही नहीं है, बस वापस स्वयं में आने की जरूरत है।
    अतः अपने आत्म स्वरुप को जानने का प्रयास करते हुए यदि अपने आपको अकर्ता माने तो ही तनावरहित जीवन जी सकता है जो कि वर्तमान की आवश्यकता विशेष है ।*पुस्तक का एक अंश है यह उदगार* लेखक को उनके प्रथम उत्कृष्ट रचना एवम बुक्स क्लीनिक को प्रकाशन हेतु हार्दिक शुभकामनाएं
    पुष्पकांता तिवारी
    मस्तूरी जिला बिलासपुर (छःग)

  13. Booksclinic Admin

    द्वारा
    मदन मोहन बाजपेयी
    राजघराना कॉलोनी
    बिलासपुर(छत्तीसगढ़)
    सामान्य तौर पर लोगों को अध्यात्म शब्द से इसे वृद्धावस्था का विषय एवम कामकाज विहीन लोंगो की छवि उभरती है पर बिलासपुर के उदीयमान लेखक श्री रामशंकर शुक्ल जो कि विगत 10 वर्षोँ से नवरात्रि पर्व पर प्रज्लवित ज्योति कलश के मध्य मां दुर्गा जी का स्तवन करते हैं के द्वारा अपनी पुस्तक असम्भव के विरूद्ध पुस्तक के लेखों में अध्यात्म की वैज्ञानिक आधार पर पुष्टि करते हुए एक नया विषय गढ़ते है वह है * विश्व का प्रथम आश्चर्य*।
    यह पुस्तक अत्यंत रोचक एवम अध्यात्म के अनछुए पहलू को प्राचीन ग्रन्थों के आधार पर प्रमाण सहित सभी सम्प्रदाय के लिये बिना किसी पूजा पाठ या अनुष्ठान के संस्कार वान पुत्री या पुत्र की प्राप्ति का उपाय बताती है यह अमूल्य पुस्तक
    लेखक को उनके अनुसंधानात्मक प्रथम कृति हेतु ह्रदय तल से बधाई एवम साधुवाद
    मोबाइल न. 91 9907443927

  14. रामशंकर शुक्ल

    बुक्स क्लीनिक के c e o एवम कर्मचारियों का सहयोग हेतु हार्दिक आभार ।
    मुझे प्रबुद्ध पाठकों की समीक्षा से उत्साह वर्धन होता है । champa के लेक्चरर श्री राजेश तिवारी जी एवम कुछ अन्य माननीय गण इस पुस्तक के लेख * विश्व का प्रथम आश्चर्य* को विद्यालय के पाठ्यक्रम में शामिल करने हेतु प्रयास रत हैं । उन सबको सादर अभिवादन एवम साधुवाद । रामशंकर शुक्ल

  15. Booksclinic Admin

    *सामाजिक परिवर्तन फाउंडेशन *
    ,मुंबई एवम गो गोपाल लीला धाम
    गौशाला रीवाँ
    पंजीकरण/ई / 8219 / थाणे
    # असम्भव के विरुद्ध ‘#💐
    आज के परिवेश में विश्व मे सब संभव है पर नैतिकता का नित्तान्त अभाव ।
    यह सम्भव है ,?जी असम्भव के विरुद्ध पुस्तक में लेखक श्री रामशंकर शुक्ल द्वारा गरूड़ पुराण,, श्रीमद्भागवत गीता ,आदि पुराणों के सूक्ष्म अध्ययन से यह स्पष्टता से दर्शाया गया है कि * एक निश्चित तिथि एवम समय पर समागम से संस्कार वान सन्तान की उतपत्ति सम्भव है *
    लेखक द्वारा गौ हत्या मुक्त भारत के समर्थन में विगत 10 वर्षों से चमड़े के वस्तु के बहिष्कार के तहत स्वयम चमड़े के बेल्ट, पर्स,जुते आदि का उपयोग न कर पण्डित विजयशंकर मेहता जी से भी लिखित समर्थन लिया गया है जिनके अनुयायियों की संख्या 1,25,00000.से भी अधिक है ।
    कहावत है कि जो वस्तु आसानी से प्राप्त हो जाता है प्रायः उसका महत्व लोग नही देते । इसे कृपया अपवाद स्वरूप मानकर न सिर्फ़ हिन्दुओं वरन सभी सम्प्रदाय के लोंगो से यह पुस्तक क्रय कर पर्याप्त लाभ लेने हेतु अनुरोध
    गौ पुत्र कृष्णानंद
    :: अध्य्क्ष :;
    मोबाइल नंबर 8452905098

  16. Booksclinic Admin

    Dr ChandraShekhar Shukla
    Chief Medical Officer
    Block Bilha Dis Bilaspur
    Read the Book Written by Mr Ramshankar Shukla
    असम्भव के विरुद्ध ,in hindi on
    Kindley .
    Being a Doctor i can say Book Author has written Fact with proved articles to Solve the problem of abortion in India published in Lancet Magazine british journal
    Heartly congratulations to
    Author for his best Investigative Non fiction and motivational book .

  17. Booksclinic Admin

    More people think that only karmkand is way to reach God.But author Mr Ramshankar shukla has not only explained in the book असम्भव के विरूद्ध(सफलता का रहस्य ) but also proved same on about MANTRA on scientific way .Best Inspiring book
    Basant Kumar
    Regional Manager
    Hasta shilp vikas Board
    Bastar { chhattisgarh}

  18. Booksclinic Admin

    प्रदीप कश्यप
    सहायक अभियंता
    जल संसाधन विभाग कोरबा
    मो न, 98279 62931
    लोग सत्य को जानना चाहते हैं किंतु अधिकांश जान लेने के बाद उसकी प्रमाणिकता भी चाहते हैं कुछ पाठकों ने लिखित के साथ व्यवहार में भी प्रमाण दिया है पुस्तक असम्भव के विरुद्ध में । स्वस्थ व उत्तम संतान उतपत्ति का नियम किसी विशेष धर्म या सम्प्रदाय के लोंगो पर नहीँ वरन जिस प्रकार सूर्य की ऊष्मा या चंद्रमा की शीतलता सभी को प्राप्त होती है ठीक वैसे ही क्रोमोसोम के वैज्ञानिक नियम सभी पर लागू होते हैं *लेखक श्री रामशंकर शुक्ल जी को इस अनुसंधानात्मक पुस्तक हेतु
    हार्दिक शुभकामनाएं*

  19. Booksclinic Admin

    राजेन्द्र शर्मा
    लक्ष्मी ग्रीन हाउसिंग सिटी
    बिलासपुर (छः ग )
    मोबाइल न 6267191676
    भारतीय दर्शन में सत्संग का अर्थ है परम् सत्य * पण्डित रामशंकर शुक्ल जो कि हस्तशिल्प विकास बोर्ड के से,नि सहायक प्रबंधक के पुस्तक असम्भव के विरुद्ध में न मात्र सत्संग बल्कि अन्य 20 चैप्टर्स में लिखी यह पुस्तक Non Fiction कैटेगिरी में बहुत ही श्रेष्ठ पुस्तक है । तभी तो गूगल प्ले स्टोर सेएवम अमेजॉन किंडल से भी 5 स्टार की रेटिंग इस पुस्तक को प्राप्त हुआ
    *पूर्ण मनोयोगपूर्वक लिखे इस पुस्तक को सभी सुविज्ञ पाठकों से पढ़ने की अनुशंसा करता हूँ ।

  20. Booksclinic Admin

    कुमार नरेन्द्र
    निपनिया जिला भाटापारा
    छत्तीसगढ़
    मोबाईल न 93401 92760
    कितनी भी अनिवार्य एवम जनउपयोगी तत्व जो आसानी से प्राप्त हो उसका महत्व नगण्य होता है *इसी प्रकार अधिकांश लोग श्री रामशंकर शुक्ल जी के द्वारा वैज्ञानिक एवम अनुसंधान के आधार पर लिखे पुस्तक असम्भव के विरुद्ध में उद्घृत न तो मंत्रों की उपयोगिता और न ही भ्रूण हत्या पूर्ण प्रतिबंधात्मक उपाय के साथ ही संस्कार वान संतान की
    प्राप्ति सम्भव हैजैसे विशिष्ट लेख पर कभी गम्भीरता से विचार करते हैं💐
    *जनसामान्य को इन लेखों के आधार पर निःशुल्क अधिकतम लाभान्वित होने की अपेक्षाओं के साथ
    लेखक को उत्कृष्ट रचना हेतु प्रणाम एवम साधुवाद*

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.

No more offers for this product!

General Inquiries

There are no inquiries yet.