Har Panna Kuch Kehta Hai by (Narendra Singh)

180.00

मेरा प्रथम कविता संग्रह का प्रकाशन हो चुका है। जिसका नाम है “मन की लड़ियाँ” जो 100 कविताओं का संग्रह है। उस संग्रह में बहुत सी कविताओं को स्थान न मिला। कारण, मैं उसे कमतर आँक कर अलग कर दिया था। हालाँकि, “मन की लड़ियाँ” के प्रकाशक का कहना था कि आप स्वयं अपनी किसी रचना को निम्नतर नहीं कह सकते। ये पाठकगण का काम है । बाद में मुझे भी अहसास हुआ कि मैं स्वयं अपनी रचनाओं को क्यों अलग अलग स्तरों में विभाजित करूँ और, फिर निर्णय लिया कि रचनाएं चाहे जैसी है, इसे भी प्राकशित करवाना है । कविताएं कैसी है, ये पाठकगण पर छोड़ देता हूँ और जो कविताएं “मन की लड़ियाँ “कविता संग्रह में स्थान नहीं पाई ,जो पुरानी डायरियों में, यत्र तत्र बिखरे पन्नों में थी और हाल की नई कविताओं को लेकर एक कविता संग्रह के प्रकाशन का निर्णय लिया, जिसका नाम दिया “हर पन्ना कुछ कहता है”। ये काव्य संग्रह मेरी उम्र के सड़सठवें वसंत पर सड़सठ कविताओं का संग्रह है। इसमें 67 कविताएँ और 40 छोटी कविताएँ और क्षणिकाएं हैं । यानी, कुल मिलाकर इसमें भी छोटी बड़ी 107 रचनाएँ हैं। कविताएँ, रचना तिथि और काल वर्ष के अनुसार क्रमबद्ध है। हास्य, व्यंग्य और देश दुनिया में घटित घटनाओं कों केन्द्रविन्दु मान कर कविताएँ रची गई हैं। बहुत सी कविताएँ ऐसी हैं, जो सच्ची घटनाओं पर लिखी गई है। कुछ कविताएँ घटना घटने के दिन ही रची गयी हैं। ऐसी कविताओं को पद्य में लिखित एक इतिहास ही कह सकते हैं । मैं इस कविता संग्रह में अपनी अध्ययन भूमि, अपनी कर्मभूमि और भरणपोषण करने वाला अपना बैंक को भी स्थान दिया हूँ। इस संग्रह की कविताओं में वेदना है, सीख है, प्रेरणा है, आगाह है, आग्रह है, हिदायत है, सुझाव है, आक्रोश है, कटाक्ष है, संस्मरण है और यथार्थ चित्रण है।यानी सभी कविताएँ अर्थपूर्ण है और कुछ न कुछ सोचने पर मजबूर करती है।

  • Publisher ‏ : ‎ Booksclinic Publishing (07 November 2022)
  • Language ‏ : ‎ Hindi
  • Paperback ‏ : ‎ 113 pages
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 9789355356550
  • Reading age ‏ : ‎ 3 years and up
  • Country of Origin ‏ : ‎ India
  • Generic Name ‏ : ‎ Book

100 in stock (can be backordered)

SKU: book1391BCP Category:

Description

“जीवन -वृत
मूल नाम : नरेंद्र सिंह
पिता : स्व मथुरा सिंह
माता : स्व दुलारी देवी
जन्मतिथि : 04.03.1956
जन्मस्थान : मोहनपुर,अतरी गया
शिक्षा : एम ए (भूगोल) एल एल बी, एम बी ए।
जीविका : पंजाब नेशनल बैंक से वरिष्ठ प्रबंधक पद से सेवानिवृत्त

रुचि : काव्य रचना,लेख,कथा और व्यंग्य लिखना

अन्य : अनेकों पत्र पत्रिकाओं में सैंकड़ो कविताओं का प्रकाशन।
प्रकाशित : “”मन की लड़ियाँ”” सौ कविताओं का काव्य संकलन
प्रकाशनार्थ विचाराधीन : मगही कविता संग्रह एवं लघुकथा व लेख (व्यंग्य) संग्रह,
सम्पर्क सूत्र :
ग्राम – मोहनपुर, थाना-अतरी, ब्लॉक-मोहड़ा,पोस्ट : चिरियावां
जिला गया, बिहार,
पिन : 823311
मोबाइल नंबर : 7519661564
ईमेल : narendrasingh40872@gmail.com

Additional information

Dimensions 5.5 × 8.5 cm

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Har Panna Kuch Kehta Hai by (Narendra Singh)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *