Kuchha Rang Kuchha Vyangya BY (Pradeep Mishra)

150.00

कुछ रंग कुछ व्‍यंग्‍य में समय-समय पर लिखी हुईं सात रचनाएं शामिल हैं। अब ये नहीं कहुंगा कि ये स्‍पेक्‍ट्रम के सात रंग हैं .सतरंगी सपने हैं। ऐसा भी नहीं है कि सात की संख्‍या मेरे लिए भाग्‍यशाली है..। क्‍या है कि  जब रचनाएं छाँट रहा था तो इन सात रचनाओं ने एक किताब छपने लायक मटेरिएल दे दिया था, बस इसीलिए यह संख्‍या सात निकली, वरना यह कुछ भी निकल सकती थी।

  • Publisher ‏ : ‎ Booksclinic Publishing (24 January 2023)
  • Language ‏ : ‎ Hindi
  • Paperback ‏ : ‎ 83  pages
  • ISBN-13 ‏ : ‎    9789355357625
  • Reading age ‏ : ‎ 3 years and up
  • Country of Origin ‏ : ‎ India
  • Generic Name ‏ : ‎ Book

100 in stock (can be backordered)

SKU: book1491BCP Category:

Description

“प्रदीप मिश्र
बहुत सी पत्र-पत्रिकाओं- साप्ताहिक हिन्दुस्तान, कादम्बिनी, रविवार, शुक्रवार, सरिता, मुक्ता, सूरज, ब्लिट्ज, वसुधा, आज, नवभारत टाइम्स, हिन्दुस्तान, दैनिक भास्कर, दैनिक जागरण, पत्रिका, देशबंधु, लोकमत, नई दुनिया, नवभारत, जनसंदेश, स्टार समाचार, बिजिनेस स्टेट, व्यापार किरण आदि बहुतायत में प्रकाशित।

एक संवेदनशील मामला (नाटक)
सर्वर डाउन है (व्यंग्य संग्रह)
लात के विरुद्ध इम्‍यूनिटी (व्यंग्य संग्रह)
बापू की स्‍मार्ट सिटी (व्यंग्य संग्रह)

फोन- 09827063496

Additional information

Dimensions 5.5 × 8.5 cm

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Kuchha Rang Kuchha Vyangya BY (Pradeep Mishra)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *