Mere Vidyaalay by (Ram Mohan Rai)

220.00

” मेरी यह पुस्तक न तो कोई स्तुतिगान है और न ही कोई अतिशयोक्ति । इस किताब के माध्यम से मैंने अपने सौभाग्य को अवश्य प्रदर्शित किया है जो मुझे देश भर के महान पुरुषों के चरणों में बैठ कर अपनी बुद्धि के अनुसार ग्रहण करने पर मिला ।

  • Publisher ‏ : ‎ Booksclinic Publishing (21 October 2022)
  • Language ‏ : ‎ Hindi
  • Paperback ‏ : ‎ 184 pages
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 9789355353528
  • Reading age ‏ : ‎ 3 years and up
  • Country of Origin ‏ : ‎ India
  • Generic Name ‏ : ‎ Book

100 in stock (can be backordered)

SKU: book1107BCP Category:

Description

“राम मोहन राय का जन्म 17अक्टूबर 1957 को हाली के शहर पानीपत (हरियाणा) में एक सुसंस्कृत, स्वतंत्रता सेनानी व आर्य समाजी- गांधीवादी परिवार में हुआ। आपकी शिक्षा पानीपत की आर्य शिक्षण संस्थाओं में हुई। तत्पश्चात जे. वी. जैन कॉलेज, सहारनपुर से लॉ की परीक्षा पास कर ताशकंद (तत्कालीन सोवियत संघ) में उच्च शिक्षा के लिए एक वर्ष के लिए गए।अपने बचपन से ही आप गतिशील विचारों से ओतप्रोत हो कर सामाजिक कार्यो में अग्रसर रहे।
छात्र काल में आल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन के राज्य सचिव रहे। तत्पश्चात महर्षि दयानन्द सरस्वती के जीवनकाल में ही वर्ष 1983 में स्थपित आर्य समाज के अनेक वर्षों तक, पानीपत के मंत्री व उससे सम्बन्धित शिक्षण संस्थानों के प्रबन्धक पद पर भी रहे।
इसी दौरान प्रसिद्ध गांधीवादी व सन्त विनोबा भावे की मानस पुत्री दीदी निर्मला देशपांडे के सानिध्य में विश्व शांति, राष्ट्रीय एकता व साम्प्रदायिक सद्भाव में लग गए तथा अनेक बार पाकिस्तान, बांग्लादेश, श्रीलंका सहित अनेक दक्षिण एशिया के देशों की अमन-शांति के लिए यात्राएं की ।
वीमेंस इनिशिएटिव फ़ॉर पीस इन साउथ एशिया के प्रतिनिधिमंडल में कश्मीर सहित अनेक अशांत क्षेत्रों की यात्राएं की । विगत अनेक वर्षों से आपके नेतृत्व में भारत एवम पाकिस्तान की जनता के बीच दोस्ती स्थापना के लिए प्रति वर्ष आग़ाज़- ए -दोस्ती यात्रा का आयोजन एक बहुत ही लोकप्रिय आयाम है।
राष्ट्रीय महिला आयोग के नेतृत्व में हरियाणा में पहली महिला लोक अदालत का आयोजन किया तथा अपने गृह नगर पानीपत में माता सीता रानी सेवा संस्था की स्थापना कर परिवार परामर्श केंद्र का संचालन किया, जिसके माध्यम से सैंकड़ो टूटे परिवारों को आपसी संवाद से जोड़ने का अद्भुत कार्य हुआ है। कानूनी जागरूकता , स्त्री शक्ति जागरण तथा महिला सशक्तिकरण के अनेक कार्य किये और अब स्ट्रीट चिल्ड्रन के लिए एक “”हाली अपना स्कूल”” चला रहे है ।
हाली पानीपती ट्रस्ट की स्थापना कर हाली से दोस्ती व हाली मेलों का आयोजन जैसे अत्यंत महत्वपूर्ण कार्य किये ।
वर्तमान में हाली पानीपती ट्रस्ट, गांधी ग्लोबल फैमिली व एसोसिएशन ऑफ पीपल्स ऑफ एशिया के महासचिव के कार्यो को भी कर रहे है । महात्मा गांधी द्वारा वर्ष 1932 में स्थापित हरिजन सेवक संघ की प्रांतीय इकाई के अध्यक्ष तथा वीमेंस इनिशिएटिव फ़ॉर पीस इन साउथ एशिया के ट्रस्ट के भी सदस्य है । “”पानीपत में ही निर्मला देशपांडे जी के निधन के पश्चात उनके बचे हुए सामान व पुस्तकों को संजो कर एक संग्रहालय, पुस्तकालय तथा संस्थान की स्थापना की।
व्यवसाय से सुप्रीम कोर्ट में वकील राम मोहन राय मानसिक रूप से एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं। उन्होंने देश-विदेश की भरपूर यात्राएं की है। वे मासिक पत्रिका नित्यनूतन के संपादक भी हैं।
निवास: 203,पुरानी हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी, पानीपत (हरियाणा)
मोबाइल नंबर 9354926281

 

Additional information

Dimensions 5.5 × 8.5 cm

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Mere Vidyaalay by (Ram Mohan Rai)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *