Sampoorn Vishw Mein Keval Chaar Darshan Hain BY (Dr. Gopal Chandra Mazumdar)

150.00

  • Publisher ‏ : ‎ Booksclinic Publishing
  • Language ‏ : ‎ Hindi
  • Paperback ‏ : ‎ 124 pages
  • ISBN-13 ‏ : ‎    9789390871216
  • Reading age ‏ : ‎ 3 years and up
  • Country of Origin ‏ : ‎ India
  • Generic Name ‏ : ‎ Book

100 in stock (can be backordered)

SKU: book613BCP Category:

Description

“डॉ •गोपाल चन्द्र मजूमदार

आपका जन्म 9 मई 1951ई•को मीरजापुर,उत्तर प्रदेश में हुआ हैं। शुरु से ही आपकी रुचि धर्म,संगीत,कला,एवं साहित्य,कविता में रही हैं। आपके पिता स्वर्गीय रसिक लाल मजूमदार एवं माता स्वर्गीय इंदूमती मजूमदार है। आपने बिहार विश्वविद्यालय से डी•एच•एम•एस•डिग्री उत्तीर्ण किया है। आप अपने उददेश्य को मूर्तिरूप देने के लिए “”विश्व शान्ति गणदूत समिति”” की स्थापना सन•1994 ई•में मीरजापुर में किया। कालान्तर में इसी उददेश्य के पूर्ति के लिए “”विश्व शान्ति गणदूत”” न्यास विलेख (TRUST) भी स्थापित हुआ।
आपने कई पुस्तकें लिखीं हैं। इन्हीं पुस्तकों एवं लेखनी के आधार पर आपको कई पुरस्कार एवं सम्मानित खत भी प्राप्त हुए हैं। आपकी कविताओं की पुस्तके “”तुम प्रकृति प्रिया हो””,””आँसुओ के बीज से”” एवं दर्शन लेख के रूप में “”मानव समाज का फैसला””,””सम्पूर्ण विश्व में केवल चार दर्शन हैं””,””परिपूर्ण शाश्वत प्रेम दर्शन”” हैं। एक लेखक के रूप में आपने एक नये चिन्तन को स्थापित किया हैं। यही कारण है कि आपकी लेखनी को देखकर रेड एंड बरेबरी द्वारा अलौकिक कार्य कहा गया हैं।आपको विश्व शान्ति के लिए सन• 2000 ई•में “”अन्तर्राष्ट्रीय विश्व शान्ति प्रबोधन महासंघ””-यू•एस•ए•एवं विश्व स्तरीय एन•जी•ओ• द्वारा “”ह्यूमन राइट मिलेनियम एवार्ड””से सम्मानित किया गया है ।
भूतपूर्व प्रधानमंत्री मा• अटल बिहारी वाजपेयी ने आपके विचारों एव॔ कार्यक्रमो की पत्र द्वारा सराहना की है।
भूतपूर्व राष्ट्रपति मा• डॉ •के•आर•नारायणन ने भी पत्र द्वारा आपके विचारों के प्रति सम्मान जाहिर किया हैं।
इलाहाबाद विश्वविद्यालय के उपकुलपति (वाइस चांसलर) प्रोफेसर रतन लाल हंगल ने डॉ •गोपाल चन्द्र मजूमदार के मौलिक विचारों की सराहना की एवं पत्र के माध्यम से कहा कि I hope that your efforts will be of great academic significance.
अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी की तरफ से कहा गया है कि Hope it will give brightness to the world peace ,enlighting brotherhood on the globe and our readers will certainly inspired from same.

 

Additional information

Dimensions 5.5 × 8.5 cm

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Sampoorn Vishw Mein Keval Chaar Darshan Hain BY (Dr. Gopal Chandra Mazumdar)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *