Veeraaniyaan : Zindagi Ki Talaash mein by Mukfir Bairwa

255.00

यह मेरी पहली कविता संग्रह है , जिसमें प्रकृति, रिश्ते , प्रेम ,संघर्ष , जिंदगी के कटु अनुभव और सफलता का कारवां बयां किया गया है । मानव मन , उसमे उमड़ी भावनाएं जब बरसती है , कविताओं का रूप ले लेती है और यही कविताएं जब पाठको से जुड़ती है , वो जिंदा हो जाती हैं। ये कविताएं मनोरंजन ही नहीं करेगी बल्कि आप को प्रेरित भी करेगी , एक नई ऊर्जा भी प्रदान करेगी

यादें, दर्द ,आसुओं और असफलताओं से घिरा ये वीरान मन, भटकता है किसी मंजिल की तलाश में। चाहे वो मंजिल किसी अपने को पाने की हो या सपनों की या फिर समाज को बेहतर करने की । संघर्ष की इसी भावना से पैदा होता है वो जुनून, साहस, वो हौसला जिसमें वो नई उड़ान भरता है । एक नई जिंदगी के लिए । जिसमे शामिल होती है उसकी मेहनत, राष्ट्र प्रेम की भावना , गुरु की नसीहत , प्रकृति प्रेम , और आत्मविश्वास से जलता दीपक ।

जब मिल जाता है सुकून , तब खुलता है खुशियों का गुलदस्ता जिसमें महकती है दोस्ती की खुश्बू, जिंदगी के ये अनमोल रंग जो सबको एक ही रंग में रंग देती है । मिट जाती है ये विरानिया और खत्म हो जाती है एक अधूरी जिंदगी की तलाश ।
उम्मीद करते है , ये किताब आप को पंसद आयेगी

  • Publisher ‏ : ‎ Booksclinic Publishing 
  • Language ‏ : Hindi
  • Page :180
  • Size : 5.5×8.5
  • ISBN-13 ‏ : ‎9789390871735
  • Reading Age ‏ : ‎ 3 Years 
  • Country Of Origin ‏ : ‎ India
  • Generic Name ‏ : ‎ Book

1 in stock (can be backordered)

SKU: book595BCP Category:

Description

वास्तविक नाम- गोपाल लाल जोरवाल
पिता का नाम -स्व.रामेश्वर लाल बैरवा
माता का नाम- श्रीमति केशन्ता देवी
जन्म- 1 जून 1997
जन्मस्थान- ग्राम भँवरवाडा,तहसील-नादौती,जिला-करौली,पिन कोड-322213
शिक्षा-एम.ए ,बी.एड. :- हिन्दी व नागरिक शास्त्र,
योग्यताएं :- समस्त विद्यालयी शिक्षक योग्यता(DRA),बीमा कर्मचारी,लोन कर्मचारी(IDRA)
अनुभव-
राजस्थान एम्बुलेंस विभाग :- योग्यता जांच अधिकारी,
एच.डी़ एफ सी बैंक :-हाईजिन विभाग
कम्प्यूटर शिक्षक :- निजी स्थान(कार्यरत)
सक्रिय लेखन सूत्र /मंच :-
ब्लॉग-साहित्य प्रभा एक साहित्यक मंच(sahityaprbha.blogspot.com) नित्य संचालन
प्रतिलिपि-Gopal Lal Jorwal ‘मुक्फिर’ बैरवा
नोजोटो-जोरवाल
अनहद कृति- गोपाल लाल जोरवाल
विकिपीडिया-GOPAL LAL JORWA

पत्र प्रकाशित कविता :- मुस्कुराना छोड दिया,मुस्कुराने की वजह,हाल-ए-दिल,नारी तुम केवल,पुलवामा बनाम वैलेंटाइन (अमर उजाला)
दूसरा कोरोना,दहस्यत मे अफगान,(हमारी वाणी)

संपर्क- वर्तमान पता-बाईसी की ढाणी जे.डी.ए कॉलोनी,पालडी मीणा ,आगरा रोड जयपुर( पूर्व) 302031(खोजें-Harkesh photo studio)
मो.- 8504991353(सभी प्रकार से निजी संपर्क)
अन्य सोसल मिडिया संपर्क-फेसबुक,नोजोटो,इंस्टाग्राम, ट्वीटर,:- जोरवाल
यूट्यूब संपर्क-गोपाल लाल जोरवाल (https://youtube.com/@gopallaljorwal8008)

,Self Study With Jorwal(https://youtube.com/@selfstudywithjorwal7964)
गुगल संपर्क-खोजें :-GOPAL LAL JORWAL
laljorwal.com

Additional information

Dimensions 5.5 × 8.5 cm

Reviews

There are no reviews yet.

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.