Ye Aam Pakane Ke Din Hain

  • Paperback: 97 Pages
  • Publisher: Booksclinic Publishing
  • Language: Hindi
  • Edition: 1
  • ISBN: 978-93-5535-217-0
  • Release Date: 13 January  2022

230.00

100 in stock (can be backordered)

Compare
  Ask a Question
SKU: Book979BCP Category:

Book Details

Dimensions 5.5 × 8.5 cm

About The Author


Deprecated: get_woocommerce_term_meta is deprecated since version 3.6! Use get_term_meta instead. in /home/u274083671/domains/booksclinic.com/public_html/wp-includes/functions.php on line 5211

Pandit Ram Narayan Mishra

“राम नारायन मिश्र
जन्म -1 अगस्त 1972
जन्मस्थान – सन्त कबीर नगर
शिक्षा-परास्नातक (जीवविज्ञान)
गोरखपुर विश्वविद्यालय
वर्तमान में महराजगंज जनपद में सहायक अध्यापक पद पर कार्यरत
रुचियाँ-साहित्य,प्रकृति संरक्षण, लेखन, लोगों में प्रकृति संरक्षण के प्रति जागरूकता उत्पन्न करना।
यह आम पकने के दिन हैं पहला कविता संग्रह। इस संग्रह में प्रकृति संरक्षण के अलावा प्रेम की अभिव्यक्ति के लिए भी प्राकृतिक उपादानों का प्रयोग किया गया है
अन्य दो पुस्तकें हाइवे से उतर कर और आँखन देखी झूठ सब शीघ्र प्रकाश्य ।

Reviews

There are no reviews yet.

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.

General Inquiries

There are no inquiries yet.