• Give Faith a Chance by (Rutuja Naik) Quick View
    • Sale!
      Give Faith a Chance by (Rutuja Naik) Quick View
    • Give Faith a Chance by (Rutuja Naik)

    • 141.00
    • Rated 0 out of 5
    • "Faith has a vast meaning. Every person has his own definition of Faith, though it's different from person to person, it plays a crucial role in everyone’s life. Give Faith a Chance is an ordinary tale of six weird teenagers residing in the busiest city of India named Mumbai , each having different cultural and social backgrounds, different personalities, different…
    • Add to cart
  • Gunagunati jindagi by (Rajesh kumar) Quick View
    • Gunagunati jindagi by (Rajesh kumar) Quick View
    • Gunagunati jindagi by (Rajesh kumar)

    • 99.00
    • Rated 0 out of 5
    • "प्रिय पाठकों मुझे हर्ष है कि आप तक ""गुनगुनाती जिंदगी"" पुस्तक पहुँची है। जिसमें जिंदगी के अनुभवों के आधार पर शब्दों को पिरोने का एक सूक्ष्म प्रयास है। जीवन विभिन्न उतार-चढ़ावों से भरा है। जिसे हम सभी दैनिक जीवन में अनुभव करते है। एक आदर्श जीवन हमेशा प्रसन्नता की ओर इंगित करता है। ये कठिन है पर हमें अनुसरण करना…
    • Add to cart
  • Guru Gyaan by (Hansraj Hans) Quick View
    • Guru Gyaan by (Hansraj Hans) Quick View
    • Guru Gyaan by (Hansraj Hans)

    • 160.00
    • Rated 0 out of 5
    • Publisher ‏ : ‎ Booksclinic Publishing (06 September 2022) Language ‏ : ‎ Hindi Paperback ‏ : ‎100 pages ISBN-13 ‏ : ‎ 9789355355157 Reading age ‏ : ‎ 3 years and up Country of Origin ‏ : ‎ India Generic Name ‏ : ‎ Book
    • Add to cart
  • Har Panna Kuch Kehta Hai by (Narendra Singh) Quick View
    • Har Panna Kuch Kehta Hai by (Narendra Singh) Quick View
    • Har Panna Kuch Kehta Hai by (Narendra Singh)

    • 180.00
    • Rated 0 out of 5
    • मेरा प्रथम कविता संग्रह का प्रकाशन हो चुका है। जिसका नाम है "मन की लड़ियाँ" जो 100 कविताओं का संग्रह है। उस संग्रह में बहुत सी कविताओं को स्थान न मिला। कारण, मैं उसे कमतर आँक कर अलग कर दिया था। हालाँकि, "मन की लड़ियाँ" के प्रकाशक का कहना था कि आप स्वयं अपनी किसी रचना को निम्नतर नहीं कह…
    • Add to cart
  • Hijr by (Mohit Singh Dhurve) Quick View
    • Hijr by (Mohit Singh Dhurve) Quick View
    • Hijr by (Mohit Singh Dhurve)

    • 170.00
    • Rated 0 out of 5
    • "हिज्र”, मेरी इस किताब का नाम, “हिज्र” यानि बिछड़ना या अलग होना। ज़हन का बड़ा अजीब ख़याल है ये “हिज्र”, जब ये ख़याल होता है तो परेशानी होती है और जब इससे छुटकारा मिलने लगता है तो दिल में तकलीफ़ होती है इस ख़याल से दूर जाने में । लिखना मेरा पेशा तो नहीं है लेकिन मेरा ख़याल कुछ ऐसा…
    • Add to cart
  • How to Write Synopsis for Research Projects: A Guide   :    or Science, Social Science, Humanities, Education and Commerce  by  (Dr. Vinod Kumar Sharma) Quick View
  • In Pursuit Of Everlasting Happiness by (Eswari Prasad S N) Quick View
    • In Pursuit Of Everlasting Happiness by (Eswari Prasad S N) Quick View
    • In Pursuit Of Everlasting Happiness by (Eswari Prasad S N)

    • 150.00
    • Rated 0 out of 5
    • "In our journey called life, we are Perplexed and confused about our various goals at various times. Hence we need a perfect guide for people of all ages to introspect if we are heading in the proper direction. The guiding principles called dharma, the innate property when adhered to we can never falter. Success in the long run is guaranteed.…
    • Add to cart
  • Information Security by (Dr. Tariq Hussain Sheikh, Mr. Waseem Akram, Mr. Rohit Gupta, Dr. Divya Mahajan) Quick View
  • Jangal Ek Geet Hai by (Ajay Pathak) Quick View
    • Jangal Ek Geet Hai by (Ajay Pathak) Quick View
    • Jangal Ek Geet Hai by (Ajay Pathak)

    • 200.00
    • Rated 0 out of 5
    • "‘‘जंगल एक गीत है’’ का दूसरा संस्करण आपके हाथों में सौंपते हुये मुझे बहुत खुशी हो रही है। पढ़ने-पढ़ाने की लुप्त हो रही परंपरा के बीच किसी पुस्तक की दूसरी आवृत्ति का प्रकाशित होना लेखक के रचनाकर्म की लोक अभिस्वीकृति का एक सुखद परिणाम ही है, मैं इसे इसी रूप में देखता हूँ। जंगल और पर्यावरण से मेरा लगाव आरंभ…
    • Add to cart
  • Jeb Me Jannat by (Satya Prakash Yadav) Quick View
    • Jeb Me Jannat by (Satya Prakash Yadav) Quick View
    • Jeb Me Jannat by (Satya Prakash Yadav)

    • 370.00
    • सम-सामयिक साहित्यिक उपन्यास 'जेब में जन्नत' ग्रामीण पृष्ठभूमि पर आधारित फैज़ाबाद जिले के काशीपुर की जादुई कहानी है। गांव के एक जमींदार खानदान के दो महारथी अजय विक्रम सिंह और कासिम शेर खान के वर्चस्व की जबरदस्त लड़ाई उपन्यास का आधार है। प्रस्तुत उपन्यास में सामुदायिक सहयोग, परस्पर समन्वय, ग्रामीण लोक परम्परा और रीति रिवाज की देशी सुगंध है, रामेश्वर…
    • Add to cart
  • Jeev aur Jeevan by (Prakash Chandra Seth) Quick View
    • Jeev aur Jeevan by (Prakash Chandra Seth) Quick View
    • Jeev aur Jeevan by (Prakash Chandra Seth)

    • 150.00
    • Rated 0 out of 5
    • "राम राम, प्रिय,आदरणीय पाठक गण, 'जीव और जीवन' को लेखक का लिखने का मूल उद्देश्य समाज में फैली कुरीतियां ब दिन प्रतिदिन धर्म के नाम पर बढ़ता अंधविश्वास, और सामाजिक वैमनस्यता और बढ़ती जाती जात-पात की कट्टरता, के ऊपर एक सद प्रहार है, धर्म जीवन में जरूरी है पर कितना ? जितना कि मनुष्य के लिए जीने के लिए भोजन…
    • Add to cart
  • Jeevan Ek Chakravyoo Quick View
    • Jeevan Ek Chakravyoo Quick View
    • Jeevan Ek Chakravyoo

    • 70.00
    • Rated 0 out of 5
    • "जीवन एक संघर्ष है। ये बात सभी को पता हैं। पर क्यों है? क्या ये किसी को पता है। चलो कोई नहीं यारों मैं बताता हूं। क्योंकि हम सभी का जीवन 'चक्रव्यूह ' के ऐसे मायाजाल में जकडा हुआ हैं, जिसकी हमें कानों-कान खबर ही नहीं हैं। ओर इसी राज को खोलेगी ये किताब। जिसको पढने के बाद आप सभी…
    • Add to cart