Meri Chuninda Kahaniyan by (Neelam Trikha)

250.00

  • Publisher ‏ : ‎ Booksclinic Publishing (19 October 2022)
  • Language ‏ : ‎ Hindi
  • Paperback ‏ : ‎ 100 pages
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 9789355356437
  • Reading age ‏ : ‎ 3 years and up
  • Country of Origin ‏ : ‎ India
  • Generic Name ‏ : ‎ Book

100 in stock (can be backordered)

SKU: book268BCP Category:

Description

“परिचय
नाम – नीलम त्रिखा
पति का नाम – श्री रजनीश चंद्र त्रिखा
सन्तान – एक पुत्री दृष्टि त्रिखा
शिक्षा – एम. ए. (हिंदी, दर्शन शास्त्र, लोक प्रशासन, राजनीति
शास्त्र, ज्योतिष शास्त्र) पत्रकारिता, प्रभाकर ओ. टी., एल.एल.बी.
संप्रति –
चेयरपर्सन, मंगलम चेरिटेबल ट्रस्ट (रजि०) पंचकूला, हरियाणा।
पूर्व कार्यक्रम उद्घोषक- आकाशवाणी, दूरदर्शन।
सह -स्थापिका – उमंग अभिव्यक्ति मंच पंचकूला, हरियाणा।
अध्यक्षा, प्रगति स्वयंसेवी संस्था (रजि०) कुरुक्षेत्र हरियाणा।
राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य इंटेलिजेंट मीडिया एसोसिएशन(प्ड।),
लेखन की विधा – कविता, गीत, लघु कथा, कहानी, नाटक, संवाद, दोहे, लेख, हाइकु और भजन।
प्रकाशन –
4 काव्य संकलन “महकते एहसास,“ व “मेरी बेटी मेरा अभिमान“, आशाएं लघुकथाएं, कहानियां प्रकाशित।
35 संयुक्त संकलन में रचनाएं प्रकाशित तथा एक लघु कथा, एक कहानी, दो कविता संग्रह प्रकाशाधीन, 15 पुस्तकों का संपादन। विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में कविताओं का नियमित प्रकाशन तथा रेडियो व दूरदर्शन में प्रस्तुति। राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय काव्य गोष्ठियों में सहभागिता, गायिका व मंच संचालिका।
सम्मान
लंदन (यू.के.) में साहित्य सृजन हेतु सम्मान, विद्या धाम यू.एस.ए.(रजि०) संस्थान (अमेरिका) से साहित्य,संस्कृति अवार्ड से सम्मानित, रामेश्वर दयाल दुबे साहित्य सम्मान, महिला सशक्तिकरण तथा समाज सेवा हेतु राष्ट्रीय स्तर का इंडिया आइडल अवार्ड प्राप्त, समाज सेवा हेतु पंडित दीनदयाल उपाध्याय राष्ट्रीय स्तर सम्मान प्राप्त अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य पर कई बार चंडीगढ़, पटियाला, दिल्ली, व कुरुक्षेत्र से सम्मानित साहित्य सृजन हेतु अनेक सम्मान प्राप्त। कोविड-19 के दौरान सामाजिक सेवा हेतु कई प्रतिष्ठित संस्थान से अनेकों बार सम्मानित।
आवासीय पता –
रु 297, सेक्टर 7 पंचकूला- 134109 ( हरियाणा )
9815744944, 7009505499
neelamtrikha1973@gmail.com

Additional information

Dimensions 5.5 × 8.5 cm

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Meri Chuninda Kahaniyan by (Neelam Trikha)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *