• Global Sahitya Manzari part-2nd : 	Sajha Sakalan by (Suresh Singh Shaurya) Quick View
    • Global Sahitya Manzari part-2nd : 	Sajha Sakalan by (Suresh Singh Shaurya) Quick View
    • Global Sahitya Manzari part-2nd : Sajha Sakalan by (Suresh Singh Shaurya)

    • 275.00
    • Rated 0 out of 5
    • "साहित्य मंजरी भाग-2 में सभी वरिष्ठ एवं नवोदित साहित्यकारों के साथ ही, डॉ. ममता मनीष सिन्हा , राम रतन श्रीवास ""राधे राधे"" , विक्रम सिन्हा के द्वारा भारत मांँ के श्री चरणों में यह साझा संकलन समर्पित है । जो की पाठकों के हृदय तल से होकर नव पुष्प प्रादुर्भाव से सर्वत्र सुंगध फैलता रहेगा। सभी की उज्जवल भविष्य की…
    • Add to cart
  • Gumnaam Parindey , Ehsaash ki lakeer  BY (Tarit Kumar Mahato) Quick View
    • Gumnaam Parindey , Ehsaash ki lakeer  BY (Tarit Kumar Mahato) Quick View
    • Gumnaam Parindey , Ehsaash ki lakeer BY (Tarit Kumar Mahato)

    • 248.00
    • Rated 0 out of 5
    • "ष्ये बुक मैं उनके लिए लिखा हँू जिन्हें अपने बातों को कहने में दिक्कत होती है। जो सवालों को ढूंढते हैं जिंदगी में अपने दर्द के वजह से। जो कुछ करना तो चाहते हैं पर हालात साथ नहीं देती। ये कुछ लेख है जो तकदीर के लकीरों से खोजा गया है।ष् " Publisher ‏ : ‎ Booksclinic Publishing  Language ‏ :…
    • Add to cart
  • Gunagunati jindagi by (Rajesh kumar) Quick View
    • Gunagunati jindagi by (Rajesh kumar) Quick View
    • Gunagunati jindagi by (Rajesh kumar)

    • 99.00
    • Rated 0 out of 5
    • "प्रिय पाठकों मुझे हर्ष है कि आप तक ""गुनगुनाती जिंदगी"" पुस्तक पहुँची है। जिसमें जिंदगी के अनुभवों के आधार पर शब्दों को पिरोने का एक सूक्ष्म प्रयास है। जीवन विभिन्न उतार-चढ़ावों से भरा है। जिसे हम सभी दैनिक जीवन में अनुभव करते है। एक आदर्श जीवन हमेशा प्रसन्नता की ओर इंगित करता है। ये कठिन है पर हमें अनुसरण करना…
    • Add to cart
  • Guncha BY (Dr. Ranjana verma) Quick View
    • Guncha BY (Dr. Ranjana verma) Quick View
    • Guncha BY (Dr. Ranjana verma)

    • 150.00
    • Rated 0 out of 5
    • Publisher ‏ : ‎ Booksclinic Publishing  Language ‏ : ‎ Hindi Paperback ‏ : ‎ 110  pages ISBN-13 ‏ : ‎  9789390871643 Reading age ‏ : ‎ 3 years and up Country of Origin ‏ : ‎ India Generic Name ‏ : ‎ Book
    • Add to cart
  • Har Panna Kuch Kehta Hai by (Narendra Singh) Quick View
    • Har Panna Kuch Kehta Hai by (Narendra Singh) Quick View
    • Har Panna Kuch Kehta Hai by (Narendra Singh)

    • 180.00
    • Rated 0 out of 5
    • मेरा प्रथम कविता संग्रह का प्रकाशन हो चुका है। जिसका नाम है "मन की लड़ियाँ" जो 100 कविताओं का संग्रह है। उस संग्रह में बहुत सी कविताओं को स्थान न मिला। कारण, मैं उसे कमतर आँक कर अलग कर दिया था। हालाँकि, "मन की लड़ियाँ" के प्रकाशक का कहना था कि आप स्वयं अपनी किसी रचना को निम्नतर नहीं कह…
    • Add to cart
  • HARMONIOUS  SYMPHONIES-II BY (A SOULITAIRE ANTHOLOGY) Quick View
    • HARMONIOUS  SYMPHONIES-II BY (A SOULITAIRE ANTHOLOGY) Quick View
    • HARMONIOUS SYMPHONIES-II BY (A SOULITAIRE ANTHOLOGY)

    • 175.00
    • Rated 0 out of 5
    • Harmonious Symphonies II is taking forward, the legacy of beautiful verses, concocted to touch the inner strings of your heart. These are not just words, but are feelings and emotions intertwined to create, the most amazing poetry, depicting coherence of existence. These poems are the rare pearls, taken from the oyster of life. Publisher ‏ : ‎ Booksclinic Publishing  Language ‏…
    • Add to cart
  • He prabhu ! Apano Se Bachayen BY (Mr. Kamlesh Mishra) Quick View
  • Hijr by (Mohit Singh Dhurve) Quick View
    • Hijr by (Mohit Singh Dhurve) Quick View
    • Hijr by (Mohit Singh Dhurve)

    • 170.00
    • Rated 0 out of 5
    • "हिज्र”, मेरी इस किताब का नाम, “हिज्र” यानि बिछड़ना या अलग होना। ज़हन का बड़ा अजीब ख़याल है ये “हिज्र”, जब ये ख़याल होता है तो परेशानी होती है और जब इससे छुटकारा मिलने लगता है तो दिल में तकलीफ़ होती है इस ख़याल से दूर जाने में । लिखना मेरा पेशा तो नहीं है लेकिन मेरा ख़याल कुछ ऐसा…
    • Add to cart
  • I &  The Mirror , (A collection of various types of poem) BY (NARENDRA NAVPRABHAT) Quick View
  • Ikhlaas-A-Kalam BY (Mohit Singh Dhurve) Quick View
    • Ikhlaas-A-Kalam BY (Mohit Singh Dhurve) Quick View
    • Ikhlaas-A-Kalam BY (Mohit Singh Dhurve)

    • 150.00
    • Rated 0 out of 5
    • "इख़्लास-ए-क़लम, मोहित की लिखी गई नज़्मों, ग़ज़लों और शेरों से मिलकर बनी है, ज़िन्दगी के कई मोड़ होते हैं जहाँ पर इंसान कोशिश तो करता है पर संभल नहीं पाता, बस इसी ख़याल में रहकर इस किताब की नज़्मों, ग़ज़लों और शेरों को लिखा गया है. ज़िन्दगी के फ़लसफ़े तो नहीं मगर इस किताब में आपको आम तरीके के ख़यालों…
    • Add to cart
  • Jai Maharashtra , Kavya sangrah BY (Sau. Sangita Bambole) Quick View
    • Jai Maharashtra , Kavya sangrah BY (Sau. Sangita Bambole) Quick View
    • Jai Maharashtra , Kavya sangrah BY (Sau. Sangita Bambole)

    • 149.00
    • Rated 0 out of 5
    • "नमस्कार🙏🏻 अखिल भारतीय मराठी साहित्य परिषद विदर्भ विभाग महिला आघाडी आयोजित विदर्भ विभाग अध्यक्ष आनंद कुमार शेंडे यांच्या मार्गदर्शनाखाली 1 मे महाराष्ट्र दिनाचे औचित्य साधून महाराष्ट्र दिनावर आधारीत ""जय महाराष्ट्र""ही काव्यस्पर्धा यशस्वीरीत्या पार पडली. यात देशा विदेशामधून अनेक कवी,कवियत्री यांनी सहभाग नोंदवला होता.त्याच अनुषंगाने आम्ही ""जय महाराष्ट्र""हे प्रातिनिधिक काव्यसंग्रह छापण्याचा माणस केला.आणि तो आज पुर्णत्वास जातांना दिसत आहे. यात लिहीणार्या…
    • Add to cart
  • Jangal Ek Geet Hai by (Ajay Pathak) Quick View
    • Jangal Ek Geet Hai by (Ajay Pathak) Quick View
    • Jangal Ek Geet Hai by (Ajay Pathak)

    • 200.00
    • Rated 0 out of 5
    • "‘‘जंगल एक गीत है’’ का दूसरा संस्करण आपके हाथों में सौंपते हुये मुझे बहुत खुशी हो रही है। पढ़ने-पढ़ाने की लुप्त हो रही परंपरा के बीच किसी पुस्तक की दूसरी आवृत्ति का प्रकाशित होना लेखक के रचनाकर्म की लोक अभिस्वीकृति का एक सुखद परिणाम ही है, मैं इसे इसी रूप में देखता हूँ। जंगल और पर्यावरण से मेरा लगाव आरंभ…
    • Add to cart